अपाहिज पति को पीठ पर बैठा कर पहुंची CMO दफ़्तर, कहा- लाखों चक्कर लगाने पर भी नहीं मिली मदद!

अपाहिज पति को पीठ पर लेकर CMO ऑफिस पहुंची: कहते हैं पति-पत्नी सुख और दुख दोनों में ही एक दूसरे का सहारा होते हैं. ऐसे में अगर पति किसी मुसीबत में हो तो पत्नी उसकी सेवा में दिन रात एक कर देती है. पुराने समय से ही पत्नियों को देवी के समान माना जाता है. अगर एक औरत यमराज से अपने पति के प्राण करने की ताकत रखती है, सुबह की औरतें अपने पति की रक्षा के लिए हर मुसीबत झेलने को तैयार खड़ी रहती है. ऐसे में बात अगर अपाहिज पति की हो तो? दरअसल, हाल ही में हमारे सामने कुछ ऐसा ही मामला आया है. जहां यूपी के मथुरा जिले की रहने वाली एक महिला ने अपने अपाहिज पति को पीठ पर बैठाकर चीफ मेडिकल ऑफिस यानी सीएमओ के दफ्तर पहुंची.

विकलांगता सर्टिफिकेट लेना था मकसद

मिली जानकारी के अनुसार इस महिला का पति काफी समय से दिव्यांग था जिसके चलते वह CMO ऑफिस में उसकी विकलांगता का सर्टिफिकेट लेने पहुंची थी. हालांकि यूपी सरकार के मंत्री ने दोनों पति-पत्नी की कड़ी निंदा की है. परंतु काफी जद्दो- जहद के बाद अब चीफ मेडिकल ऑफिसर ने महिला के पति को विकलांगता का सर्टिफिकेट देने की बात आगे रखी है. भारत देश में ऐसा पहली बार नहीं हुआ है इससे पहले भी इंसानियत की मिसाल के कई मामले हमारे सामने आ चुके हैं. अभी कुछ दिन पहले ही बिजनौर में भारत बंद प्रदर्शन के चलते एक शक्स अपने बुजुर्ग पिता को कंधे पर लेकर अस्पताल लेकर पहुंचा था.

पति के पास व्हीलचेयर नहीं है

महिला के अनुसार उसका पति दिव्यांग है जिसके कारण उसके घर की आर्थिक हालत ठीक नहीं चल रही . गरीबी के चलते वह अपने पति के लिए व्हीलचेयर और ट्राई साइकिल भी नहीं खरीद पा रही थी. इसी कारण उसको पति को अपनी पीठ पर बैठाकर सीएमओ ऑफिस ले जाना पड़ा. पीड़ित महिला ने बताया कि इससे पहले भी विकलांगता का सर्टिफिकेट पाने के लिए वह कई दफ्तरों के चक्कर काट चुकी है परंतु वहां किसी ने उसकी एक नहीं सुनी और उसको सर्टिफिकेट देने से मना कर दिया.

वहीं दूसरी ओर यूपी के मंत्री भूपेंद्र चौधरी ने एक इंटरव्यू के दौरान बताया कि इस दुनिया में ऐसी दुखद घटनाएं अक्सर देखने को मिलती हैं. वह सरकारी नियमों और कानूनों की पालना करते हुए मामले की जांच करवाएंगे और जितना हो सकेगा उस महिला की मदद करेंगे.

तसवीरें हो रही हैं वायरल

पत्नी की इस बहादरी की तसवीरें इन दिनों सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रही हैं. जहाँ एक तरफ हमारे भारतीय समाज में औरत को मर्दों को तुलना में कम समझा जाता है. वहीँ दूसरी और इस महिला ने ये साबित कर दिखाया है कि कोई भी औरत मर्द से कम नही होती और जरूरत पड़ने पर वह अपने पति का बोझ अपने कंधे पर भी उठा सकती है. आपको हम बता दें कि सोशल मीडिया पर इन तस्वीरों को लाखों लोग शेयर कर रहे हैं और इस महिला की हिम्मत की दाद दे रहे हैं. जहाँ कुछ लोग महिला की तुलना देवी से कर रहे हैं तो कुछ लोग इसको पब्लिसिटी पाने का तरीका बता रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *