इसे साधारण कटोरा समझने की ग़लती ना करें आप, इसकी क़ीमत जानेंगे तो उड़ जाएँगे आपके होश

चीन के चिंग राजवंश कटोरा: इस दुनिया में अक्सर ही कई बार कुछ बहुत अजीबो-ग़रीब तरह की घटनाएँ देखने को मिलती हैं। कई बार इन घटनाओं को देखने के बाद ख़ुद की आँखों पर यक़ीन ही नहीं होता है। जी हाँ अब एक चम्मच को करोड़ों में बेचा जाए तो आप इसे क्या कहेंगे। यक़ीनन आपको भी यह देखकर हैरानी ही होगी। लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दें इस दुनिया में एक से बढ़कर एक पैसे वले लोग हैं, जो एक चम्मच के लिए भी करोड़ों रुपए देने के लिए तैयार रहते हैं।

प्राचीन चीज़ों की क़ीमत होती है ज़्यादा:

इस दुनिया में कई ऐसी प्राचीन और ऐतिहासिक चीज़ें हैं, जिनकी कोई क़ीमत नहीं लगा सकता है। इन चीज़ों की क़ीमत इसलिए भी ज़्यादा होती है, क्योंकि ये बहुत ही प्राचीन और रेयर होती हैं। ऐसी चीज़ों का आज के समय में मिलना आसान नहीं होता है। अगर ऐसी कोई चीज़ मिलती है तो उसकी क़ीमत अरबों में होती है। यह अभी सुनकर आपको थोड़ा अजीब लग रहा होगा, लेकिन जब आपको सच्चाई पता चलेगी तो आपके होश भी उड़ जाएँगे। आपने अपने जीवन में सबसे महँगा कटोरा कितने में ख़रीदा होगा? अगर कटोरा बहुत ज़्यादा ख़ास हुआ तो उसकी क़ीमत ज़्यादा से ज़्यादा एक हज़ार हो सकती है।

कटोरे की नीलामी ने पूरी दुनिया को डाल दिया है हैरानी में:

पहले हम भी ऐसा ही सोचते थे, लेकिन हाल ही में हांगकांग में बिके एक कटोरे को देखने के बाद हमारी सोच तो बदल गयी। शायद आप भी इस कटोरे की क़ीमत के बारे में जानें तो आपकी भी सोच बदल जाए। दरअसल हाल ही में हांगकांग में हुई एक कटोरे की नीलामी ने पूरी दुनिया को हैरत में डाल दिया है। एक मामूली सा दिखने वाला कटोरा लगभग 197 करोड़ रुपए में बिका। जी हाँ आप बिलकुल सही समझ रहे हैं, यह कटोरा लगभग 2 अरब रुपए में बिका। यह जानकार आपको और भी ज़्यादा हैरानी होगी कि ये केवल 5 मिनट के अंदर ही बिक गया।

फ़ोन पर बोली लगाकर ख़रीदा चीनी व्यक्ति ने:

आपकी जानकारी के लिए बता दें अभी इस कटोरे के ख़रीदार का नाम सामने नहीं आया है। इस कटोरे का घेरा 6 इंच का है। इसपर चीन की पारम्परिक कलाकारी भी की गयी है। इस कटोरे को बनाने के लिए यूरोप की तकनीकी का भी इस्तेमाल किया गया है। आपको बता दें यह कटोरा चीन के चिंग राजवंश से है, इसलिए इसकी क़ीमत इतनी ज़्यादा है। उस समय के राजा ने इस कटोरे का इस्तेमाल 18वीं शताब्दी में इस्तेमाल किया था। इस कटोरे को चीन के ही एक व्यक्ति ने फ़ोन पर बोली लगाकर ख़रीदा।

केवल 20 मिनट में बिक गयी 248 करोड़ में कटोरी:

ऑक्शन हाउस सोथबे के चेयरमैन ने बताया कि इस कटोरे को चीनी कला के साथ ही यूरोपियन तकनीकी से बनाया गया है। इस कटोरे को दुनिया की नज़रों से बचाकर बीजिंग के एक शाही कारख़ाने में छोटी सी टीम ने मिलकर बनाया था। हांगकांग में पिछले साल चीन के सांग राजवंश के दौर की एक कटोरी बहुत ज़्यादा क़ीमत में नीलाम हुई थी। आपको बता दें उस कटोरी की क़ीमत ख़रीदार ने लगभग 248 करोड़ लगायी थी। उस समय वह कटोरी केवल 20 मिनट में ही बिक गयी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *