दुनिया का अनोखा पेड़, लाखों रूपये खर्च कर के सरकार हर पत्ते की पर रखती है कड़ी नज़र, जानिये वजह

देश की सीमा पर आपने जवानों को  तैनात होते देखा ही होगा…या फिर किसी नेता या खास व्यक्ति की सुरक्षा में भी आपने सुरक्षाबलों को तैनात होते हुए जरूर ही देखा होगा, लेकिन क्या आपको पता है कि एक पेड़ की रखवाली के लिए भी पूरा सुरक्षा बल तैनात होता है?  नहीं हम यहां बिल्कुल मजाक नहीं कर रहे हैं, बल्कि आपको उस पेड़ से मिलवाने जा रहे हैं, जिसकी सुरक्षा के लिए दिन रात जवान तैनात रहते हैं। अब ये बात आपको हजम नहीं हो रही होगी, तो हजम करने के लिए इस लेख को आखिर तक पढ़े।

इस पेड़ की रखवाली करने वाले जवान इस बात की सुरक्षा  करते हैं कि इस पेड़ का एक भी पत्ता जमीन पर न गिरे। जी हां, पेड़ को काफी सुरक्षित रखा गया है, इतना की वहां कोई परिंदा भी पर नहीं मार सकता है। इस पेड़ के ईर्द गिर्द सुरक्षा को बिल्कुल टाइट किया गया है। दरअसल, इस पेड़ की सुरक्षा खुद सरकार करती है। अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर ऐसा क्या है इस पेड़ में जो सरकार इसकी सुरक्षा करती है?

हम जिस पेड़ की बात कर रहे हैं, वो पीपल का पेड़ है। लेकिन ये कोई मामूली पीपल नहीं है, बल्कि बहुत ही ज्यादा खास है। दरअसल, ये पेड़ बोध वृक्ष है, जहां महात्मा बुद्ध ने ज्ञान की प्राप्ति की थी, पर ये पेड़ बिहार के बोधगया वाला नहीं है बल्कि ये पेड़ मध्य प्रदेश में लगाया गया है। जी हां, अब आप सोच रहे होंगे कि बिहार का पेड़ मध्यप्रदेश में कैसे पहुंचा ? आपके इसी सवाल का जवाब देते हुए आपको बता दें कि यह पेड़ श्रीलंका से आया है।

कुछ महीने पहले श्रीलंका के पीएम ने मध्यप्रदेश की सरकार को इसकी टहनी गिफ्ट की थी, जिसके बाद अब यह पेड़ काफी बड़ा हो गया है।बताते चलें कि बिहार के बौध गया में लगा बोधि वृक्ष की एक शाखा ले जाकर श्रीलंका में भी लगाया गया था, जिसे श्रीलंका के पीएम ने मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान को गिफ्ट किया था। ऐसे में अब शिवराज सिंह चौहान इस पेड़ की बखूबी निगरानी करते हैं। बता दें कि इसे बुद्ध भगवान की निशानी के तौर पर माना जा रहा है। यही वजह है कि सरकार इस पेड़ का खास ख्याल रख रही है।

जी हां, मध्य प्रदेश में इस बोधि वृक्ष को एक पहाड़ी पर लगाया है। इसकी सुरक्षा में लगभग चार गार्ड तैनात होते हैं, ताकि इसे किसी भी तरह का कोई नुकसान न हो। दूर से देखने में ये पेड़ मामूली दिखता है, लेकिन पास आते  आते इस पेड़ की सुरक्षा सबको चौंका देती है। खास बात तो यह है कि इस पेड़ की सुरक्षा इस बात के लिए होती है कि इसका कोई भी पत्ता न गिरे। इस पेड़ को पानी देने का काम फायर ब्रिगेड की टीम करती है।

आपको बता दें कि इस पेड़ की सुरक्षा औऱ निगरानी के लिए सरकार ने तकरीबन 65 लाख रूपये खर्च कर दिये हैं। जी हां, बोधि वृक्ष को बाहर के किसी भी तरह के नुकसान से बचाने के लिए यहाँ विशेष रूप से इसके चारों तरफ जाली लगाया गया हैं।अब ये पेड़ लगभग 15 फीट का हो चूका है। इस पेड़ की बहुत ही ज्यादा ख्याल रखा जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.