राज्यसभा में आज फिर भिडेंगी कांग्रेस-बीजेपी, जानिए किसका क्या रहा है बैकग्राउंड

राज्यसभा में आज का दिन सियासत के खेल का एक और दिन होगा। राज्यसभा के उपसभापति चुनने बाबत आज सांसद अपना मत डालेंगे। कांग्रेस की ओर से बीके हरिप्रसाद वहीं एनडीए से जनता दल यूनाइटेड के हरिवंश चुनावी मैदान में आमने सामने हैं। दोनों ही पार्टियां अपने अपने जीत का दावा कर रही हैं। भाजपा स्पष्ट रूप से संख्याबल के दम पर जीतने की बात कर रही है वहीं कांग्रेस भी अपने उम्मीदवार के जीत के दावे से पीछे नहीं है। किंतु इस लड़ाई में एनडीए के हरिवंश की जीत पक्की मानी जा रही है। नीतिश कुमार की पार्टी जद(यू) समेत एनडीए के सभी सहयोगी दलों ने इसके लिए पूरी कमर कस ली है। माना जा रहा है कि नीतिश कुमार गैर एनडीए सरकार के मुख्यमंत्रीयों के साथ भी संपर्क में हैं।

क्या है उपसभापति बनने के लिए जादुई आंकड़ा-  वर्तमान में राज्यसभा में 244 सांसद वोट कर सकते हैं। अर्थात जादुई या कहें बहुमत का अांकड़ा 123 हो जाता है। ऐसे में एनडीए के पास मात्र 109 सीटें हैं मतलब जादुई आंकड़े से 14 नंबर पीछे है।  इस रेस में तो यूपीए आगे है क्योंकि उनके पास 114 सीटें हैं लेकिन बहुमत से यूपीए भी पीछे है। एनडीए, क्षेत्रीय दलों के वोट मिलने की आस लगाए बैठी है, क्योंकि नवीन पटनायक की पार्टी बीजेडी ने हरिवंश नारायण सिंह को अपने समर्थन की घोषणा कर दी है। अगर क्षेत्रीय दलों का साथ मिलता है तो बीजेपी जरूर इस रेस में आगे होगी। वहीं कल दिवंगत हुए करूणानिधि की पार्टी डीएमके के सांसदों का अभी आना तय नहीं है । देखना होगा कि डीएमके के सांसद किस ओर अपना मत रखते हैं।

 

राज्यसभा में कैसे होता है चुनाव- 11 बजे सबसे पहले सदन की शुरूआत होगी। कुछ संसदीय समिति की रिपोर्ट पेश की जाएगी जिसमें 15 मिनट का समय निश्चित है उसके बाद दोनों ही उम्मीदवारों के प्रस्तावक होंगे । उसके बाद चुनाव की प्रक्रिया शुरू होगी।

जानें क्या रही है दोनों ही उम्मीदवारों के इतिहास – 

हरिवंश- हरिवंश 25 वर्षों तक पत्रकार रहे, प्रभात खबर के मुख्य संपादक थे। पूर्व पीएम चंद्रशेखर के सूचना सलाहकार के रहे। बिहार के मुख्यमंत्री नीतिश कुमार के करीबी माने जाते हैं। वर्तमान में राज्यसभा में जनता दल यू से सांसद हैं।

बीके हरिप्रसाद- सन 1990 में पहली बार राज्यसभा पहुँचे। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राष्ट्रीय स्तर के महासचिव और राज्यसभा में कांग्रेस के सांसद।

 

बताते चलें कि राज्यसभा के उपसभापति पी जे कुरियन का जून 2018 कार्यकाल समाप्त हो गया है ऐसे में उपसभापति की कुर्सी खाली है साथ ही 10 अगस्त को सांसद का मानसून सत्र भी  खत्म हो रहा है।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *