यूपी में गिरा निर्माणाधीन फ्लाईओवर, सीएम योगी ने दिए जांच के आदेश

उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले में सड़क पर बन रहा एक फ्लाईओवर शनिवार सुबह 7:30 बजे ढह गया। नेशनल हाईवे अॉथिरीटी अॉफ इंडिया के करोड़ों से लागत बन रहा पुल 60 फीसद पूरा हो चुका था लेकिन इस पुल के ढहने से नेशनल हाईवे ऑथिरीटी अॉफ इंडिया के द्वारा बरती गई लापरवाही सामने आ गई है। इस पुल के ढहने से 4 लोगों के जख्माी होने की खबर आ रही है, जिनका इलाज अस्पताल में चल रहा है और दो लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका जताई जा रही है। स्थानीय प्रशासन की ओर से रेसक्यू अॉपरेशन जारी है। सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने घटना की जानकारी ली है और स्थानीय प्रशासन को सख्त निर्देश दिए हैं कि रेसक्यू ऑपरेशन जल्द से जल्द पूरा हो और मामले की पूरी जांच हो। यातायात व्यवस्था चौपट न हो, इसके लिए प्रबंधन करने के निर्देश दिए गए हैं और मलबे में फंसे लोगों को जल्द से जल्द निकालने का आदेश जारी किया गया है।

पश्चिम बंगाल में भी गिरा एक पुल- बंगाल के सिलीगुड़ी में भी शनिवार को एक पुल गिर गया है। लेकिन प्रशासन की ओर से दावा किया जा रहा है कि इस घटना में कोई भी हताहत नहीं हुआ है।

 

उत्तर प्रदेश में सड़क और फ्लाईओवर और सड़कों के गिरने के कई मामले लगातार सामने आ रहे हैं। जिससे स्थानीय और राज्य प्रशासन के दावों की पोल खुल रही है। पिछले महीने बनारस में पुल धंसने से एक बड़ा हादसा हुआ था जिसमें 18 से 20 लोगों की मौत हो गई और कई लोग इस हादसे में घायल हो गए। इस तरह के  हादसों में आम जनता ही परेशान होती है। जबकि प्रशासन और सरकार के दावे धरे के धरे रह जाते हैं। वाराणासी के घटना के बाद पिछले ही महीने लखनऊ आगरा एक्सप्रेस वे में एक सड़क के धंस जाने से एक गाड़ी 15 से 20 तक नीचे फंस गई थी। इस घटना के बाद अधिकारियों द्वारा कहा गया कि इस घटना में कोई भी हताहत नहीं हुआ था।

लखनऊ में एक पुराने बिल्डिंग के  गिरने से  बच्चे की मौत-  पिछले दिनों भारी बारिश के चलते गणेशगंज इलाके में एक पुराने बिल्डिंग के गिर जाने से मौत एक बच्चे की मौत हो गई है।

ग्रेटर नोएडा में भी हादसा- जुलाई में नोएडा के साहबेरी इलाके में छह मंजिला इमारत के ढह जाने से तीन लोगों  की मौत हो गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *