5G स्पेक्ट्रम की नीलामी में JIO ने मारी बाजी, वर्तमान के स्पीड से 10 गुना अधिक तेज चलेगा नेट

5जी स्पेक्ट्रम के लिए भारत में अब तक पहली और सबसे बड़ी नीलामी आज सोमवार को खत्म हो गई। इसमें अरबपति मुकेश अंबानी और गौतम अडानी समेत दिग्गजों ने बोली लगाई और करीब 1,50,173 करोड़ रुपये का स्पेक्ट्रम बेचा गया। यानी सरकार ने 1.5 लाख करोड़ रुपये से अधिक की कमाई की है। सूत्रों के मुताबिक, इस नीलामी में मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस जियो ने अपनी टाॅप स्थिति को मजबूत करने के लिए सबसे अधिक बोली लगाई।

भारती एयरटेल दूसरे स्तर पर!

रिलायंस जियो ने 4जी की तुलना में लगभग 10 गुना अधिक तेज गति से संपर्क की पेशकश करने वाले रेडियो तरंगों के लिए सबसे अधिक बोली लगाई। इसके बाद भारती एयरटेल और वोडाफोन आइडिया लिमिटेड का स्थान रहा। बताया जाता है कि अडानी समूह ने प्राइवेट दूरसंचार नेटवर्क स्थापित करने के लिए 26 मेगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम खरीदा है। सूत्रों ने कहा कि किस कंपनी ने कितना स्पेक्ट्रम खरीदा, इसका ब्योरा नीलामी के आंकड़ों के पूरी तरह आने के बाद ही पता चलेगा।

5जी दूरसंचार स्पेक्ट्रम की रिकॉर्ड बिक्री

भारत में अबतक की सबसे बड़ी स्पेक्ट्रम नीलामी सोमवार को खत्म हो गई। सात दिन तक चली इस नीलामी में 1.5 लाख करोड़ रुपये से अधिक मूल्य के 5जी दूरसंचार स्पेक्ट्रम की रिकॉर्ड बिक्री हुई। मामले की जानकारी रखने वाले सूत्रों ने कहा कि अनंतिम आंकड़ों के मुताबिक कुल 1,50,173 करोड़ रुपये की बोलियां लगाई गईं। हाई स्पीड मोबाइल इंटरनेट संपर्क की पेशकश करने में सक्षम 5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी की यह राशि पिछले साल बेचे गए 77,815 करोड़ रुपये के 4जी स्पेक्ट्रम से लगभग दोगुना है। यह राशि 2010 में 3जी नीलामी से मिले 50,968.37 करोड़ रुपये के मुकाबले तीन गुना है।

कंपनी के शेयरों में आई तेजी

जियो की पैरेंट कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर सोमवार दोपहर के कारोबार में बीएसई पर 2.3% बढ़कर 2566.80 रुपये हो गए। भारती एयरटेल और वीआई के शेयर क्रमशः 1.4% और 2.5% बढ़कर 687.20 रुपये और 8.99 रुपये हो गए। एक्सचेंज पर अडानी एंटरप्राइजेज एनएसई के 3.41% शेयर भी 2.5% बढ़कर 2,632.65 रुपये हो गए।