दिल्ली से मंकीपॉक्स का दूसरा मामला आया सामने , 35 साल का विदेशी युवक हुआ संक्रमित

दिल्ली में मंकीपॉक्स (Monkeypox) का एक और मरीज सामने आया है. यह शख्स 35 साल का है और नाइजीरिया का रहने वाला है. फिलहाल वह दिल्ली में रहता है. इस दौरान उसने किसी तरह की विदेश यात्रा नहीं की है. दिल्ली में मंकीपॉक्स का यह दूसरा और देश में पांचवां मामला सामने आया है. इस दौरान एक मरीज की मौत हो चुकी है. मंकीपॉक्स का मामला राजस्थान में भी मिला है. यहां पर दो संदिग्ध मरीज मिले हैं. पहला मामला अजमेर और दूसरा मामला भरतपुर का है. दोनों को जयपुर में मौजूद राजस्थान यूनिवर्सिटी ऑफ हेल्थ साइंस (RUHS) से लाया गया. इस दौरान मरीजों को आइसोलेशन में रखा गया. उनके सैंपल को जांच के लिए पुणे भेजा गया. मंकीपॉक्स के कारण भारत में पहली मौत की पुष्टि हो चुकी है.

इस बीमारी से केरल के 22 वर्षीय शख्स की मृत्यु हो गई. इस बात की पुष्टि हो चुकी है कि उसने मंकीपॉक्स वायरस के कारण जान गंवाई है. यह शख्स UAE से लौटा था. शख्स की जान मंकीपॉक्स वायरस के कारण हुई है या नहीं इसका पता लगाने के लिए सैंपल को एनआईवी NIV पुणे भेजा गया था. यहां से परिणाम पॉजिटिव आए हैं. इसकी मौत केरल के Thrissur में 30 जुलाई को हुई थी.

मंकीपॉक्स को लेकर बढ़ती चिंता के कारण केंद्र सरकार सतर्क है. केंद्र ने एक टास्क फोर्स का भी गठन किया है. इसकी अगुवाई डॉक्टर वीके पॉल और स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण कर रहे हैं. केरल में इससे अलावा मंकीपॉक्स के तीन और मरीज भी सामने आ चुके हैं. ये तीनों अब पूरी तरह से ठीक हो चुके हैं. सभी की हालत में सुधार है. केरल के संक्रमित चारों मरीज मिडिल ईस्ट से लौटे थे. वहीं दूसरी ओर दिल्ली में जो पहला आया था, वह किसी विदेश यात्रा से नहीं लौटा था. शख्स संक्रमित होने से पहले मनाली घूमकर लौटा था. मंकीपॉक्स के अबतक विश्वभर में बीस हजार से अधिक मामले मिले हैं. यह अब तक 77 देशों तक फैल चुका है. इस बीमारी के कारण अब तक अफ्रीकी देशों में 75 लोगों की मौत हो चुकी है.