Homeमुख्य समाचारपुरुषों के साथ यौन संबंध रखने वाले दो (गे) पुरुषों में मंकीपॉक्स...

पुरुषों के साथ यौन संबंध रखने वाले दो (गे) पुरुषों में मंकीपॉक्स वायरस का मामला दर्ज

मंकीपॉक्स वायरस को लेकर एक बेहद चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। पहली बार किसी जानवर में मंकीपॉक्स वायरस की पुष्टि हुई है। फ्रांसीसी रिसर्चर्स ने अपनी रिसर्च में एक कुत्ते में मंकीपॉक्स वायरस की पुष्टि की है। शोधकर्ताओं का दावा है कि यह पहला ऐसा पुष्ट मामला हो सकता है जहां इंसान से जानवर में वायरस फैला हो।

मेडिकल जर्नल द लैंसेट में प्रकाशित एक रिसर्च पेपर के मुताबिक, पेरिस में सोरबोन यूनिवर्सिटी की एक टीम ने पुरुषों के साथ यौन संबंध रखने वाले दो (गे) पुरुषों में मंकीपॉक्स वायरस का मामला दर्ज किया। इनमें से एक लैटिन व्यक्ति की उम्र 44 वर्ष है और वह एचआईवी पॉजिटिव है। हालांकि वह HIV की एंटीरेट्रोवायरल दवाई लेता है जिससे उसका वायरस अनडिटेकटेबल है। वहीं एक दूसरा श्वेत व्यक्ति एचआईवी-नेगेटिव है और उसकी उम्र 27 वर्ष है।

मंकीपॉक्स के लक्षणों की शुरुआत के बारह दिन बाद उनका कुत्ता भी वायरस से पॉजिटिव पाया गया। कुत्ता एक मेल इटैलियन ग्रेहाउंड है और उसकी उम्र 4 साल है। रिसर्च टीम के मुताबिक, मंकीपॉक्स पॉजिटिव पाए गए कुत्ते को इससे पहले कोई अन्य बीमारी नहीं थी। दोनों गे पुरुष एक साथ रिश्ते में नहीं थे बल्कि एक ही घर में रहते हैं। अपने पार्टनर्स के साथ संबंध बनाने के 6 दिनों बाद दोनों को उनकी गुदा की त्वचा पर अल्सर हुआ।

लैटिन पुरुष में, गुदा की त्वचा पर अल्सर के बाद चेहरे, कान और पैरों में दाने निकल आए, जबकि श्वेत व्यक्ति के पैरों और पीठ पर दाने थे। दोनों ही मामलों में, व्यक्तियों को दानों के चलते 4 दिन बाद कमजोरी, सिरदर्द और बुखार आना शुरू हो गया। उनका मेल कुत्ता भी इन दोनों के साथ ही सोता था। उसको म्यूकोक्यूटेनियस (त्वचा रोग) हो गया और घाव दिखने लगे। उसके पेट पर सफेद मवाद के साथ लाल धब्बे और गुदा की त्वचा पर अल्सर दिखने लगा।

टीम ने कुत्ते और लैटिन व्यक्ति से मंकीपॉक्स वायरस का डीएनए निकाला और टेस्ट किया तो पाया कि दोनों नमूनों में hMPXV-1 क्लैड, लाइनेज B.1 का वायरस (मंकीपॉक्स) था। यह अप्रैल से गैर-स्थानिक देशों में फैल रहा है। यूनिवर्सिटी के इंफेक्शियस डिजीज डिपार्टमेंट की सोफी सीयांग ने अपनी टीम के साथ लिखा, “हमारी जानकारी के अनुसार, दोनों रोगियों में लक्षण एक साथ शुरू हुए थे और बाद में, उनके कुत्ते में मंकीपॉक्स वायरस मानव-से-कुत्ते के जरिए फैला हो सकता है।”

Must Read

spot_img