राजस्थान में बाढ़ जैसे हालात, 19 जिलों में तेज बारिश, वज्रपात और मेघगर्जन को लेकर येलो अलर्ट

राजस्थान में बारिश का दौर थम नहीं रहा है। मौसम विभाग केंद्र जयपुर ने आज फिर प्रदेश के 19 जिलों में तेज बारिश, वज्रपात और मेघगर्जन को लेकर येलो अलर्ट जारी किया गया है। प्रदेश में बुधवार से ही बारिश का दौर चल रहा है। कहीं भारी तो कहीं अति भारी बारिश हो रही है। गुरुवार को प्रदेश के कई जिलों में 5 इंच पानी गिरा। कालीसिंध और भीम सागर बांध के एक-एक गेट खोलने पड़े है। प्रदेश के कई जिलों में बाढ़ जैसे हालात बने हुए है। नदी-नाले उफान पर है।

कोटा और राजधानी जयपुर में गाड़ियां सड़कों पर तैरनी लगी है। आलम यह है कि प्रशासन से जोधपुर, हनुमानगढ़ और चूरू जिले में स्कूलों में छुट्टी करन पड़ी। मौसम विभाग के अधिकारियों का कहना है कि अगले 5-7 दिन तक बारिश को दौर चलेगा। फिलहाल भारी बारिश से उपजे हालात प्रशासन के लिए चुनौती बने हुए है। आसमान में बादल छाए हुए है। तेज धूप नदारद है।

गुरुवार को राजधानी जयपुर सहित प्रदेश के कई जिलों में अच्छी बारिश हुई। पांच इंच पानी गिरा। वहीं जैसलमेर के पोकरण में शाम 4 बजे तेज बारिश हुई। करीब एक घंटे में ही 55 मिमी पानी बरस गया। निचली बस्तियों के साथ ही जोधपुर-जैसलमेर मुख्य मार्ग पर भी 1 से 2 फीट तक तेज बहाव के साथ पानी बहा। राजधानी जयपुर में भी सुबह के समय तेज बारिश हुई। कई मुख्य सड़कों पर पानी भर गया। मौसम विभाग की रिपोर्ट के अनुसार बारां में 40, अलवर में 35, फलौदी में 13.6, अजमेर में 12.4, पिलानी में 12.2, चित्तौड़गढ़ में 19, श्रीगंगानगर में 8.6 मिमी बारिश दर्ज की गई।

झालावाड़ जिले में बुधवार रात से बारिश का दौर जारी है। गुरुवार को भी ज्यादातर जगहों पर मूसलाधार बारिश हुई। भीमसागर बांध के कैचमेंट क्षेत्र में पानी की आवक होने से एक गेट एक फीट खोलकर 750 क्यूसेक पानी की निकासी शुरू की गई। पडौ़सी राज्य मध्यप्रदेश में भी बारिश होने से कालीसिंध बांध में पानी की आवक हुई। जलसंसाधन विभाग के अधिशासी अभियंता महेन्द्र सिंह ने बताया कि गुरुवार को कालीसिंध बांध का गेट 1.3 सेमी तक खोलकर 5 हजार 244 क्यूसैक पानी की निकासी की। पानी की आवक को देखते हुए एवं बांध का गेट लगातार रोजाना खोले रखने से गुरुवार को बांध का जलस्तर 314.27 मीटर बना रहा। जबकि बांध की कुल भराव क्षमता 316 मीटर है। जिससे बांध अभी तक खाली है।

मौसम विभाग के अधिकारियों के के अनुसार आज पूर्वी राजस्थान में आज इंद्रदेव की कृपा रहेगी। अलवर, भरतपुर, सवाई माधोपुर, धौलपुर, करौली, टोंक, दौसा और राजधानी जयपुर के कुछ हिस्सों में भारी बारिश होने के आसार है। इन जिलों में गत दिनों से कहीं हल्की तो कहीं तेज बारिश हो रही है। बीसलपुर बांध में पानी की अवाक होने से जयपुरवासियों ने बड़ी राहत ली है। बीसलपुर बांध में मई-जून में हालत चिंताजन बने हुए थे, लेकिन बांध में पानी की अवाक तेजी से बढ़ रही है। मौसम विभाग के अधिकारियों के अनुासार उत्तरी पाकिस्तान और उससे सटे इलाकों में पश्चिमी विक्षोभ बना हुआ है। इसका असर राजस्थान से सटे इलाकों में दिखने को मिल रहा है। आने वाले तीन दिनों में पूर्वी राजस्थान में देखने को मिलेगा। इससे बारिश के आसार है।