अर्पिता मुखर्जी के नए ठिकाने पर मिला दौलत का पहाड़, 29 Cr. कैश और गोल्ड.. गिनने में लगे 10 घंटे

शिक्षक भर्ती घोटाले में गिरफ्तार पश्चिम बंगाल के मंत्री पार्थ चटर्जी की करीबी अर्पिता मुखर्जी के दूसरे फ्लैट पर ईडी ने बुधवार को छापेमारी की। अर्पिता मुखर्जी के इस फ्लैट पर भी ईडी को नोटों का खजाना प्राप्त हुआ है। ईडी के द्वारा किए गए छापेमारी के दौरान अर्पिता मुखर्जी के बेलघरिया स्थित एक और फ्लैट से से 29 करोड़ नकद (28.90 करोड़ रुपए) और 5 किलो गोल्ड मिला है।

चौंकाने वाली बात है यह है कि अर्पिता ने यह सारा पैसा फ्लैट के टॉयलेट में छिपा कर रखा हुआ था। इतनी बड़ी रकम को गिनने के लिए तीन नोट गिनने की मशीनें मंगवाई गई थीं। पैसा गिनने में 10 घंटे लग गए। बता दें कि अर्पिता मुखर्जी पश्चिम बंगाल में ममता सरकार में मंत्री पार्थ चटर्जी की करीबी हैं। दोनों इस समय जेल में बंद हैं।

पहले अर्पिता के फ्लैट से मिले थे 21 करोड़ कैश और तमाम कीमती सामान

ईडी ने अर्पिता को 23 जुलाई को गिरफ्तार कर लिया था। राज्य में हुई शिक्षक भर्ती घोटाले में पैसे की लेनदेन की जांच ईडी कर रही है। घोटाले की जांच तो सीबीआई कर ही रही है। इसी सिलसिले में पिछले दिनों प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने पार्थ चटर्जी और उनकी करीबी अर्पिता मुखर्जी के घर छापेमारी की थी। पांच दिन पहले प्रवर्तन निदेशालय (ED) के द्वारा की गई छापेमारी के दौरान अर्पिता के फ्लैट से 21 करोड़ रुपए नगद और तमाम कीमती सामान बरामद हुए थे। घर से कई जरूरी दस्तावेज भी मिले जिसकी जांच चल रही है।

आपको बता दें कि पार्थ चटर्जी और अर्पिता मुखर्जी फिलहाल 3 अगस्त तक ईडी की हिरासत में हैं। पार्थ चटर्जी को गिरफ्तारी के बाद जांच एजेंसी के अधिकारियों द्वारा अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा था। उनसे लगातार शिक्षा भर्ती घोटाले को लेकर पूछताछ की जा रही है। ईडी का कहना है कि अर्पिता के घर से मिला धन शिक्षा भर्ती घोटाले के जरिए कमाई गई राशि है, जो पार्थ चटर्जी की है।

वहीं ईडी की इस कार्यवाही के बाद विपक्षी पार्टियां TMC पर पार्थ चटर्जी को कैबिनेट से बाहर करने की मांग कर रही है। राज्य में विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी ने राज्यपाल ला गणेशन से राजभवन में मुलाकात की और चटर्जी को कैबिनेट से बाहर करने की मांग की। इतना ही नहीं शिक्षक भर्ती घोटाले में मनी ट्रेल की जांच कर रही प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने पश्चिम बंगाल माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष टीएमसी विधायक माणिक भट्टाचार्य से भी पूछताछ की है।

पूछताछ में अर्पिता मुखर्जी ने इन संपत्तियों का किया था खुलासा

बुधवार की सुबह दक्षिण कोलकाता के राजडांगा और बेलघरिया में कई ठिकानों पर ईडी के द्वारा छापेमारी की गई। यह प्रॉपर्टीयां कथित रूप से अर्पिता मुखर्जी की है। अर्पिता मुखर्जी ने इन संपत्तियों का ईडी की पूछताछ के दौरान खुलासा किया था। जांच एजेंसी को फ्लैट की चाबी नहीं मिली थी, जिसकी वजह से ईडी को इन फ्लैट में घुसने के लिए दरवाजा तोड़ना पड़ा था।

समाचार एजेंसी से बातचीत के दौरान ईडी के अधिकारियों ने यह बताया कि हमें एक हाउसिंग कॉम्प्लेक्स के एक फ्लैट में अच्छी रकम मिली है। कैश को गिनने के लिए तीन नोट गिनने की मशीनें मंगवानी पड़ी। इतना ही नहीं फ्लैट से कई अहम दस्तावेज भी मिले हैं। ED अधिकारी ने मंत्री और मुखर्जी से पूछताछ को लेकर पूछे गए सवालों पर यह बताया कि पार्थ चटर्जी जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं जबकि अर्पिता जांच में सहयोग कर रही हैं।