चमत्कारः इस मंदिर में विराज मान हैं सांस लेने और प्रसाद खाने वाले हनुमान जी

कहा जाता है कि पवन पुत्र हनुमान को श्रीराम ने अमरत्व का आर्शीवाद । आज उसी आर्शीवाद का असर है

Read more